lession सिंक्रोन्स मोटर short part 1

> नियत गति (सिंक्रोन्स गति) पर घूमने वाली मोटर सिंक्रोन्स या तुल्यकालिक मोटर| कहलाती है।> सिंक्रोन्स गति को Ns से प्रदर्शित करते है।> सिंक्रोन्स मोटर स्वंय चालू (सैल्फ स्टार्ट) नही होती।> सिंक्रोन्स मोटर का स्टार्टिग टॉर्क शून्य होता है।< सिंक्रोन्स मोटर की गति पर सामान्य लोड परिवर्तन से कोई प्रभाव नहीं पड़ता। > यदि सिंक्रोन्स […]

lession सिंक्रोन्स मोटर short part 2

> पावर फैक्टर को सुधारने के लिए सिंक्रोन्स मोटर को पारेषण लाईन के समान्तरमें जोड़ा जाता है।> इन्डकशन टाइप ओटो सिंक्रोन्स मोटर स्लिप रिंग इन्डकशन मोटर की भांति स्वंयचालू होती है।> सिंक्रोन्स मोटर को चालू करने में प्रयुक्त पोनी मोटर में पोलो की संख्या सिंक्रोन्समोटर से एक जोडा कम रखी जाती है। > मशीनों की […]

ईलैक्ट्रॉनिक्स part 1

> विज्ञान की वह शाखा जिसमें इलेक्ट्रोन एवं अन्य आवेश वाहको का, निर्वात एवं अद्धर्चालको मे से प्रवाह एवं उंके अनुप्रयोगो का अध्यय्न किया जाता है। इलेक्ट्रोनिक्स कहलाती है। > इलेक्ट्रॉनिक परिपथो में प्रयोग किये जने वाले पुर्जे दो प्रकार के होते है 1.निष्क्रिय घटक ( passive )  ( 2.) सक्रिय घटक (active) > जो […]

ईलैक्ट्रॉनिक्स part 2

> किसी शुद्ध अर्धचालक पदार्थ मे अशुद्धि मिलाने कि प्रक्रियाअर्थत इन्ट्रिन्सिक को एक्सट्रिन्सिक मे परिवर्तित करने कि प्रक्रिया अपमिश्रण या मादन (DOPING) कहलाती है > त्रिसंयोजि तत्व = इण्डियम,  गैलियम,  एल्युममिनियम,   बोरोन > चतुसंयोजी तत्व = जर्मेनियम,     सिलिकॉन > पंचसंयोजी तत्व = फॉस्फोरस,   बिस्मिथ,        आर्सेनिक,  एंटिमनि > चतुसंयोजी तत्व मे त्रिसंयोजी तत्व कि अल्प मत्रा […]

error: Content is protected !!